Friday, November 24, 2017

Home

Magzines

Like us on Facebook

ओम पुरी : किरदारों का संगतराश

प्रताप सिंह स्टार-सिस्टम की पुश्तैनी-शर्तों की जंजीरों और सजीले नकली नायकवाद के मिथ को तोडऩे वाले ओमपुरी अब हमारे बीच नहीं हैं। उनका खुरदरा चेहरा थिएटर (एनएसडी) और समांतर-सिनेमा की...

‘जब मैंने यह दृश्य देखा तो मेरा दिल बिखर गया’

मेरिल स्ट्रीप अमेरिकी लोकतंत्र की बहुआयामिकता, अमेरिकी समाज में तमाम जकड़बंदियों के बावजूद एक निरंतर खुले स्पेस के लिए व्याकुलता और वहां के सार्वजनिक जीवन में साहस और समझ की...

दल बदल का दंगल

प्रेम पुनेठा उत्तराखंड में कांग्रेस के नेता यशपाल आर्य और उनके बेटे संजीव आर्य ने दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की और दो घंटे के बाद ही उनको पार्टी...

राज्यों के चुनाव संकट में साइकिल

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव पर अजय सिंह क्या 2017 के नतीजे 2012 के नतीजों को दोहराएंगे? उत्तर प्रदेश की राजनीतिक फिजा में कई सवाल गूंज रहे हैं। क्या 'हाथ’...

फिर मीडिया ट्रायल

तीस्ता सीतलवाड़ खुद को आजाद पत्रकारिता का दावा करने वाले इलेक्ट्रॉनिक न्यूज चैनल की ओर तीस्ता सीतलवाड़ के खिलाफ खासकर टाइम्स नाऊ २३ की ओर से सोमवार की रात न्यूज...

ब्रह्मांड की रचना और हिग्स बोसॉन यानी कण-कण में विज्ञान

हाल ही में (4 जुलाई) योरोपीय नाभिकीय अनुसंधान केंद्र (सर्न) के वैज्ञानिकों ने घोषणा की कि उन्होंने एक नए सब-एटोमिक कण की खोज में सफलता हासिल कर ली है।...

भारत विभाजन क्यों हुआ?

पैरी एंडर्सन मार्क्‍सवादी अमेरिकी इतिहासकार और चिंतक पैरी एंडरसन ने योरोप और विश्व इतिहास पर महत्वपूर्ण काम किया है। वह 1962 से न्यू लैफ्ट रिव्यू के संपादक हैं। एंडरसन ने...

प्राकृतिक संसाधनों की लूट की परियोजनाएं–1

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने लगता है अपने एजेंडे पर काम करना शुरू कर दिया है। उनके साथ उन लोगों की एक बड़ी जमात जुट गई है जो...

टिहरी बांध : बांध में डूबी जिंदगियां

हम अभी-अभी नई टिहरी से लौटे हैं। आगराखाल से नरेंद्रनगर के बीच उतरती शाम में बादलों के बीच छिप-छिप कर डूबते सूरज की लालिमा भी मन को बांध नहीं पाई।...

संपादकीय : अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता बनाम पैसा कमाने की स्वतंत्रता

इस वर्ष दो ऐसी बड़ी घटनाएं हुई हैं जो देश के मीडिया उद्योग को तेजी से एकाधिकारी और संकेंद्रित करने में निर्णायक साबित होने जा रही हैं।  यह इस...

पत्र : इस आक्रमण की निंदा करें

आज 'झुनझुनवाला और उनके परिवार पर आक्रमण' का स्तब्ध करनेवाला समाचार पढ़ा। इस को पढ़कर मैं स्तब्ध हूं। यह उत्तराखंड के लिए अच्छा संकेत नहीं है। मैं अपने सभी...

संपादकीय : प्रशासन को अंग्रेजी क्यों चाहिए?

दिल्ली उच्च न्यायालय में अगस्त के मध्य में एक जनहित याचिका पर सुनवाई शुरू हुई। याचिका में कहा गया है कि संघीय लोकसेवा आयोग द्वारा सिविल सेवाओं की परीक्षा...

बांध : विकास नहीं विनाश का पर्याय

हिमालय के स्वभाव में समाहित भूस्खलन, बाढ़ और भूकंप के खतरों को पनबिजली परियोजनाओं ने बहुगुणित कर दिया है। उत्तराखंडवासी सोचते थे कि टिहरी बांध के निर्माण, 1991 तथा...

सामान्य गुजरात बनाम मोदी का गुजरात

इस तथ्य से सभी अवगत हैं कि गुजरात प्रदेश प्राचीन समय से ही समृद्ध रहा है। यहां के लोगों का मुख्य व्यवसाय पशु-पालन और वाणिज्य था। इसमें यहां के...

मीडिया और मोदी

हाल ही में दो खबरों ने खूब सुर्खियां बटोरी हैं। पहली, चर्चित अमेरिकी पत्रिका टाइम के कवर पर गुजरात के विवादास्पद मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर और दूसरी दुनियाभर...

ओम पुरी : किरदारों का संगतराश

प्रताप सिंह स्टार-सिस्टम की पुश्तैनी-शर्तों की जंजीरों और सजीले नकली नायकवाद के मिथ को तोडऩे वाले ओमपुरी अब हमारे बीच नहीं हैं। उनका खुरदरा चेहरा थिएटर (एनएसडी) और समांतर-सिनेमा की...

‘जब मैंने यह दृश्य देखा तो मेरा दिल बिखर गया’

मेरिल स्ट्रीप अमेरिकी लोकतंत्र की बहुआयामिकता, अमेरिकी समाज में तमाम जकड़बंदियों के बावजूद एक निरंतर खुले स्पेस के लिए व्याकुलता और वहां के सार्वजनिक जीवन में साहस और समझ की...

दल बदल का दंगल

प्रेम पुनेठा उत्तराखंड में कांग्रेस के नेता यशपाल आर्य और उनके बेटे संजीव आर्य ने दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की और दो घंटे के बाद ही उनको पार्टी...

राज्यों के चुनाव संकट में साइकिल

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव पर अजय सिंह क्या 2017 के नतीजे 2012 के नतीजों को दोहराएंगे? उत्तर प्रदेश की राजनीतिक फिजा में कई सवाल गूंज रहे हैं। क्या 'हाथ’...

फिर मीडिया ट्रायल

तीस्ता सीतलवाड़ खुद को आजाद पत्रकारिता का दावा करने वाले इलेक्ट्रॉनिक न्यूज चैनल की ओर तीस्ता सीतलवाड़ के खिलाफ खासकर टाइम्स नाऊ २३ की ओर से सोमवार की रात न्यूज...
0FansLike
65,150FollowersFollow
4,163SubscribersSubscribe
- Advertisement -

समयांतर और संन्यासी

स्वामी नित्यानंद सरस्वती कहां हो सकते हैं? मुश्किल से समयांतर के पुनप्रकाशन को डेढ़ वर्ष भी नहीं हुआ था कि एक दिचस्प बात होने...

संपादकीय : शौचालय बनाम हथियार

ऐसे तथ्य हैं जो किसी से छिपे नहीं हैं। पर इन के संबंध में बोलना एक तरह से मुख्यधारा में वर्जित है - देश...

संस्मरण : खाकसारों को बड़ी तकलीफ होती है

महावीर सरवर ज्ञानरंजन के बहाने: नीलाभ; नई किताब; मूल्य: 350, पृ.सं.:200 ISBN : 978-93-81272-93-0 बहुत तुर्शी और शिकायत के लहजे में लिखी गई संस्मरण-नुमा यह पुस्तक पूरी...

यात्रा : देस में परदेस : बरास्ता लाहौर

साहित्यिक गोष्ठी में शामिल न होने का एक कारण यह भी था कि कुछ स्थानीय प्रगतिशील लेखक आ रहे थे। हमें खाने पर कहीं...

कार्टून विवाद :तर्कशील दलित नेतृत्व के अभाव का सवाल

मोहन आर्या इतिहास के जिस महानतम दलित ने अपनी व्यक्ति पूजा पर सख्त ऐतराज जताया था और जनतांत्रिक मूल्यों में आस्था के कारण ही...

उच्च शिक्षा : भ्रष्टाचार की सहभागिता

निजी-सार्वजनिक सहभागिता के नाम पर इग्नू को चूना लगाने की कहानी सत्र कुल विद्यार्थियों की संख्या कुल शुल्क इग्नू का अंश अंशदान का प्रतिशत जनवरी, 2010 5113 28733200 2511500 8.74 जुलाई, 2010 21867 110212750 10155250 9.2 जनवरी, 2011 10368 50703450 4785500 9.4 जुलाई, 2011 18211 102041050 30612315 30 जनवरी,...