4 responses to “नैट पर समयांतर : www.samayantar.com”

  1. अदि श्रीवास्त्व

    समयांतर को नये रूप में देखकर बहुत प्रस्न्नता हुई। जो भी सज्जन इसे चला रहे हैं निश्चय ही उन्हें वैब का अच्छा अनुभव है। रंगों का चुनाव, चित्रों का चुनाव, प्रतिदिन एक या दो लेख देना,लेखों को तोड़कर देना आदि बहुत से ऐसे क्षेत्र हैं जो उनकी परिपक्वता का परिचय देते हैं।

    आपने पुराने वय्क्ति की नाम लेकर आलोचना की तो इन नये सज्ज्न का भी नाम देना चाहिये था। नैट पर ना सही पत्रिका में तो देते। ठीक है उनका प्रचार में विस्वास नहीं है लेकिन समयांतर को चाहिये कि वह पत्रिका में उनका नाम छापे,ताकि पाठक भी उनको धन्यवाद दे सकें।

    जो भी हो नये रूप में समयांतर बहुत अच्छा है। इंतजार है पुराने अंको का।

  2. Deepak Seth

    A great and welcome news for me because unfortunately I had been missing several issues of Samyantar because of Postal service and had to go to Central News Agency in New Delhi to purchase one. Thanx for the step taken.

    Deepak Seth
    20.11.2012

  3. Arun Kamal Mishra

    very impressive magzine

  4. Deepkumar

    Please send an edition in a little Sandeep Kumar, Narnaund Hisar

Leave a Reply