Friday, November 24, 2017

डिजिटल उपनिवेशवाद को निमंत्रण देता डिजिटल इंडिया और बायोमेट्रिक यूआईडी

यूआईडी/आधार आंकड़े राष्ट्रीय संपत्ति हैं, जिसे विदेशी सरकारों को मुहैया कराया जा रहा है। प्रश्न हैं: क्या संपत्ति की परिभाषा में ''देश के आंकड़े'', ''निजी संवेदनशील सूचना'' और ''डिजिटल...

कहां है वह साहस?

तरुण तेजपाल उस इंडिया इंक प्रकाशन घराने के पार्टनरों में से एक थे, जिसने शुरू में मेरे उपन्यास गॉड ऑफ स्मॉल थिंग्स को छापा था। पत्रकारों ने हालिया घटनाओं...

मंच : पाबना में दलित उत्पीड़न

फैक्ट फाइंडिंग कमेटी की रिपोर्ट हरियाणा प्रदेश के कैथल जिले के गांव पबनावा की दलित बस्ती पर गांव के ही दबंगों द्वारा हमले की खबर के आधार पर दिल्ली के...

मंच : दुआ

गौहर रज़ा आइये हाथ उठाएं हम भी, हम जिन्हें रस्म-ए -दुआ याद नहीं, हम जिन्हें सोज-ए -मोहब्बत के सिवा, कोई बुत कोई खुदा याद नहीं- 'दुआ', फैज...

‘नेट’ के जाल में सर्जनशीलता

पडोळकर सतीश कुमार विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने नेशनल इलिजिबिलिटी टेस्ट (नेट) परीक्षा इस वर्ष जून से वस्तुनिष्ठ कर दी थी। इसके वस्तुनिष्ठ करने का उद्देश्य यह बताया जाता...

मंच : पुलिस राज का विरोध करें

अक्टूबर माह की 14-15 तारीख को हरिद्वार में इंकलाबी मजदूर केंद्र का तीसरा सम्मेलन आयोजित हो रहा था। यह सम्मेलन उत्तराखंड की सरकार और हरिद्वार के पूंजीपतियों की आंखों...

हिग्स-बोसॉन फील्ड अर्थात विज्ञान के भगवान की खोज

उद्भ्रांत देवेंद्र मेवाड़ी का आलेख 'ब्रह्मांड की रचना और हिग्स बोसॉन यानी कण-कण में विज्ञान' (समयांतर अगस्त, 2012) इस विषय पर हिंदी में आया पहला सुविचारित लेख है जिसमें अब...

सोनी सोढी की प्रताड़ना

सोनी सोढी का यह पत्र भारतीय कानून और न्याय व्यवस्था पर गंभीर टिप्पणी है। यह पत्र इस बात का भी संकेत है कि सत्ता न्यायालयों के आदेशों की भी...

अस्मिता आंदोलनों के द्वंद्व

शिवप्रसाद जोशी चारु तिवारी का लेख ('हिमालय: बसेगा तो बचेगा', जुलाई, 2012) पढ़कर लगा उसमें जो बहस है उसे आगे बढ़ाना चाहिए, उनके कुछ निष्कर्षों के बारे में अपना मत...

मंच : मंटो के व्यक्तित्व को समझना होगा

शकील सिद्दीकी सआदत हसन मंटो पर विद्यार्थी चटर्जी का लेख पढ़ा। अहमद राही का खयाल सही नहीं है कि ''मंटो की मौत उसी दिन शुरू हो गई जिस दिन उन्होंने...