मंच

आपकी बात हमारा मंच

खुफिया एजेंसियांः आईएस राग का सच

रिपोर्ट  कुछ खुफिया और अस्पष्ट सूत्रों के हवाले से प्रसारित खबरों कि आइएस की तरफ से लड़ रहा कथित आतंकी आजमगढ़ निवासी बड़ा साजिद सीरिया में मारा जा चुका है को रिहाई मंच ने खुफिया एजेंसियों द्वारा आजमगढ़ को बदनाम करने की कोशिश बताया है। संगठन ने अपना आरोप फिर दोहराया है कि आजमगढ़ और [Read the Rest…]

जमीन की लूट में सरकार की मेहरबानी

उत्तराखंड उत्तराखंड की सरकारों, चाहे वह भाजपा की हों या फिर कांग्रेस की, में निर्विवाद रूप से जो एक समानता दिखलाई देती है वह है यहां के संसाधनों की लूट के लिए खूली छूट देना। कॉरपोरेट घरानों, धन्नासेठों और कुलीन वर्ग के लिए इस राज्य के प्राकृतिक संसाधन खासकर जमीन बड़े पैमाने पर लाभ कमाने [Read the Rest…]

गलतबयानी का नमूना

साहित्य अकादेमी साहित्य अकादेमी के कार्यकारी मंडल ने लेखकों-कलाकारों के जबरदस्त विरोध के दवाब में 23 अक्टूबर को जो प्रस्ताव पारित किया है, वह न सिर्फ चिंताजनक रूप से अपर्याप्त, बल्कि गलतबयानी का एक निर्लज्ज नमूना भी है। पांच लेखक संगठनों—जलेस, जसम, प्रलेस, दलेस और साहित्य-संवाद—के आह्वान पर लेखकों, पाठकों और संस्कृतिकर्मियों का जो बड़ा [Read the Rest…]

हत्या की पैरोकारी का चातुर्य

यदि किसी को इस बात का सबूत खोजना हो कि हमारे देश के कई सांसद कैसे किसी हत्या को जायज ठहराते हैं तो उन्हें 2 अक्टूबर, 2015 के इंडियन एक्सप्रेस में तरुण विजय के लेख को पढऩा चाहिए। हालांकि उनके लेख को पढ़कर तो नहीं लगता कि वह सम्मान के योग्य हैं, लेकिन क्योंकि वह [Read the Rest…]

शिक्षक दिवस या मोदी दिवस

शिक्षक डायरी यह अनुभव दिल्ली सरकार के स्कूल में पढ़ाने वाली एक शिक्षिका साथी ने साझा किया है। साथी के अनुरोध का ध्यान रखते हुए  उनका नाम नहीं दिया जा रहा है।   जब स्कूल के सभी बच्चों को सुबह 9.30 बजे से दोपहर एक बजे तक, बिना अपनी मर्जी के डर के मारे, एक [Read the Rest…]

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के गांवों के हालात

पीयूडीआर की जांच रिपोर्ट लेखक : पीयूडीआर जुलाई 2014 से छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में वन गांवों से ऑपरेशन ग्रीन हंट के गहन होने की खबरें आ रही थीं। नागरिक अधिकार संगठनों से लगातार-जमीनी स्तर पर इन मामलों की जांच के लिए मांग की जा रही थी। इसलिए, पीयूडीआर ने 26 से 31 दिसंबर 2014 [Read the Rest…]

Page 1 of 712345...Last »