Friday, November 24, 2017

समाचारपत्र : कीमत कौन चुकाएगा?

पहली जुलाई से ही अंग्रेजी अखबार द हिंदू के लेआउट में बिना किसी पूर्व घोषणा के परिवर्तन दिखना शुरू हो गया था। एक सप्ताह बाद संपादक ने नहीं बल्कि...

सिटिजन जैन और भारतीय मीडिया के अनाचार की कहानी

''तुमसे मुझे सहानुभूति है। तुम समझते हो कि मैं एक बदमाश हूं, मेरे अखबार को तुरंत बंद कर दिया जाना चाहिए, मेरी जांच के लिए कमेटी गठित की जानी...

मीडिया : कोयले की दलाली से कोयले के व्यापार तक

भारत में कोयला घोटाले ने एक बार फिर तथाकथित लोकतांत्रिक संस्थाओं के चेहरे से नकाब हटाने के काम किया है। एक लाख छियासी हजार करोड़ की कोयले की दलाली...

दिल्ली मेल : लेखन और सत्ता की असहिष्णुताः संदर्भ तस्लीमा नसरीन

'इस्लाम की बेटियां' जैसा विषय हो और तस्लीमा नसरीन उपस्थित होने के बावजूद न बोलें, यह सामान्य नहीं है। हमारा इशारा हंस के वार्षिकोत्सव की ओर है जिसमें इस...

पत्रकारिता का नीतिशास्त्र

गुवाहाटी में एक लड़की को सरेआम अपमानित किया जाता है। उसके कपड़े फाड़े जाते हैं और उस पर अश्लील टिप्पणियां की जाती हैं। पास खड़ी भीड़ तमाशा देखती रहती...

अनियोजित नहीं है आग्रह पूर्वाग्रह

मीडिया के समाजशास्त्र और राजनीति पर जब बात होती है तो विश्लेषण का नजरिया तीन स्पष्ट भागों में बंट जाता है। पहला नजरिया मीडिया के काम-काज के मौजूदा तरीके...

मीडिया शिक्षण का व्यापार

जून के पहले हफ्ते में मुंबई के अंग्रेजी टेबलॉयड अखबार मिड डे में मुंबई प्रेस क्लब की तरफ से दिया गया एक विज्ञापन छपा था। उसमें लिखा था ''मुंबई...

लोकतंत्र में समाचार की कीमत

बहुराष्ट्रीय कंपनियों का तौर-तरीका लगभग एक-सा है। फर्क सिर्फ यह है कि कहीं वह बहुत अपराधिक है और कहीं बहुत खुला हुआ। कॉरपोरेट मीडिया संगठन, पाठकों/दर्शकों को धंधे की वस्तु...

व्यवसायिकता और सरकारी तंत्र के बीच

भारतीय इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में तमाम ऐसे चैनल हैं जो दिन-रात खबरें, मनोरंजन, और सनसनी परोसने और टीआरपी बटोरने की होड़ में लगे रहते हैं। इस सब के दौरान भारतीय...