सूचना

सूचनार्थ

प्रिय पाठक व लेखक,

सूचित करते हुए हमें प्रसन्नता है कि दो महीनों के अंतराल के बाद समयांतर का जून 2020 अंक हम मुद्रित रूप में ला पाने में सफल हुए हैं। उसे समय पर डाक विभाग को सौंपा भी जा चुका है।  यद्यपि रेल व्यवस्था जिस अनुपात में खोली गई है उसे देखते हुए कहा नहीं जा सकता कि कितना समय लग सकता है, पर स्थिति के सामान्य होने के सरकारी दावों पर भरोसा करते हुए कहा जा सकता है कि पत्रिका पाठकों को देर-सबेर मिल जरूर जाएगी। यह भुलाया नहीं जा सकता कि बिना रेलों के संचालन के डाक का वितरण संभव नहीं है। रेल और डाक व्यवस्था दोनों केंद्र के पास हैं।

हम पुन: अपने लेखकों और पाठकों के आभारी हैं, और रेखांकित करना चाहते हैं कि यह अंक भी उनके अक्षुण सहयोग और अडिग विश्वास का प्रमाण है।

सूचनार्थ हम ऐसे विकल्प तलाश रहे हैं कि समयांतर के अप्रैल और मई माह के अंक, जो अब तक सिर्फ इलैक्ट्रानिक रूप में ही उपलब्ध हैं, अंतत: मुद्रित हो पाएं। पर यह डिजिटल रूप में ही संभव हो पाएगा। यह प्रक्रिया खासी मंहगी है, इसलिए इस संस्करण का मूल्य और रजि. डाक खर्च अतिरिक्त होगा। जो पाठक इन अंकों को चाहेंगे वे संपर्क कर सकते हैं।

शुभकामनाओं के साथ,

– टी पी चौबे,

(M) 9871403843